sensex kya hota hai सेंसेक्स से शेयर मार्केट का पता कैसे चलता है 

sensex kya hota hai सेंसेक्स से शेयर मार्केट का पता कैसे चलता है 

sensex kya hota hai दोस्तों आप जानना चाहते हैं कि sensex kya hota hai आपने टीवी पर कभी ना कभी न्यूज़ में देखा होगा कि आज sensex कितने अंक बढ़कर इतने पर बंद हुआ या सेंसेक्स आज नीचे रहा जब भी आप शेयर मार्केट के बारे में बात करते हैं तो आपने sensex के बारे में कहीं ना कहीं कभी ना कभी जरूर सुना होगा आखिरी sensex kya hota hai और इसे किस प्रकार शेयर मार्केट चलता है हमने हमारी पिछली पोस्ट में आपको बताया था कि निफ्टी क्या होती है और निफ्टी किस प्रकार काम करती है लेकिन हम हमारी इस पोस्ट में आपको बताएंगे कि sensex kya hota hai और सेंसेक्स किस प्रकार से शेयर मार्केट को बढ़ाता और घटाता है और sensex के द्वारा आप किस प्रकार शेयर मार्केट में इनकम कर सकते हैं

दोस्तों निफ्टी  में 50 कंपनी रजिस्टर्ड है जबकि सेंसेक्स में 30 कंपनी रजिस्टर्ड है अब हम हमारी इस पोस्ट में जानेंगे कि सेंसेक्स क्या होता है और आप शेयर मार्केट में इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं तो बनी रहे हमारे इस आर्टिकल में

सेंसेक्स और निफ्टी में क्या अंतर है

दोस्तों सेंसेक्स और निफ्टी में मुख्य अंतर यह है कि निफ्टी में 50 कंपनियां रजिस्टर्ड है और सेंसेक्स में मात्र 30 कंपनियां रजिस्टर्ड है निफ्टीnse में रजिस्टर्ड है जबकि सेंसेक्स bse में रजिस्टर है nse का फुल फॉर्म नेशनल स्टॉक एक्सचेंज है जबकि bse का बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज है और इनमें टॉप कंपनियों को निफ्टी और सेंसेक्स में रखा जाता है

दोस्तों निफ्टी और सेंसेक्स दोनों से ही बाजार की स्थिति का अनुमान लगाया जा सकता है अगर निफ्टी नीचे जा रही है या sensex नीचे जा रहा है तो बाजार में नेगेटिव इफेक्ट पड़ रहा है दोनों ऊपर जा रहे हैं तो मतलब बाजार पॉजिटिव है आप इसी बात से समझ सकते हैं कि इसमें शेयर मार्केट का पता कैसे लगाए जा सकते और यह शेयर मार्केट के दो बड़े स्तंभ हैं जिनके द्वारा शेयर मार्केट चलता है

sensex kya hota hai

दोस्तों सेंसेक्स की बात की जाए तो sensex की स्थापना सन् 1986 में हुई थी और यह bse में रजिस्टर्ड 30 कंपनियों को दर्शाता है यानी कि जितनी भी कंपनियां बीएससी में रजिस्टर्ड है जो टॉप की 30 कंपनी है सेंसेक्स उनके बारे में बताता है अगर वह अच्छा प्रदर्शन करती हैं तो सेंसेक्स ऊपर जाता है

और अगर वह खराब प्रदर्शन करती है तो sensex नीचे आता है इस प्रकार आप सेंसेक्स के द्वारा बाजार के उतार-चढ़ाव को आसानी से समझ सकते हैं

दोस्तों सेंसेक्स इंडेक्स है और यह शेयर मार्केट का काफी महत्वपूर्ण हिस्सा है आप शेयर मार्केट को संसद के द्वारा समझ सकते हैं कि शेयर मार्केट आज कैसा चल रहा है क्योंकि sensex कंपनियों को दर्शाता है जो टॉप पर रहती हैं और इन कंपनियों के द्वारा ही सेंसेक्स चलता है अगर यह कंपनी अच्छा प्रदर्शन कर रही है

तो सेंसेक्स हमेशा ऊपर ही जाएगा और मतलब मार्केट पॉजिटिव रहेगा और अगर यह कंपनियां खराब प्रदर्शन कर रही है तो सेंसेक्स नीचे जाएगा यानी मार्केट में शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिल रही है

sensex kya hota hai आसान शब्दो में

दोस्तों सेंसेक्स की बात आसान भाषा में की जाए तो आप सेंसेक्स के द्वारा 30 कंपनियों को देख सकते हैं जो टॉप 30 में है मतलब इसका सीधा सा जवाब यह है कि अगर वाह कंपनी अच्छा प्रदर्शन कर रही है तो शेयर मार्केट पॉजिटिव है  सेंसेक्स हमेशा ऊपर ही जाएगा मतलब सेंसेक्स का ग्राफ ऊपर जाएगा और अगर वह कंपनियां प्रदर्शन अच्छा नहीं कर रही है तो यह नीचे आएगा

 सेंसेक्स की 30 कंपनियों को किस आधार पर चुना जाता है

दोस्तों जो इंडेक्स कमेटी होती है वाह  सेंसेक्स में कंपनी को ऐड करने के समय कुछ बातों का ध्यान रखती है और इसके बाद इन तीस कंपनियों का चुनाव करती है

  1.  सेंसेक्स में इंडेक्स होने के लिए उस कंपनी को शेयर 1 साल या उससे अधिक समय के लिए स्टॉक मार्केट स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर्ड होना चाहिए
  2.   पिछले 1 साल में उस कंपनी के शेयर को बाजार में खरीदा और बेचा जाना चाहिए
  3. दोस्तों जो ट्रैंड रहता है उसमें इन तीस कंपनियों को देश की 150 कंपनियों में जरूर शामिल होना चाहिए
    यह सब खासियत होने के बाद ही इन कंपनियों को सेंसेक्स में रजिस्टर्ड किया जाता है

 बेहतर प्रदर्शन करने वाली सेंसेक्स की 30 कंपनियों कौन सी हैं

दोस्तों सेंसेक्स की स्थापना 1986 में की गई थी और इसी के साथ इसमें 30 कंपनियों को रजिस्ट्रेट किया गया था इन कंपनियों की मांग स्टॉक मार्केट में हमेशा बनी रहती है ऐसी ही कंपनियों को ब्लूचिप कहा जाता है यानी कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज इसमें अभी भारत की कुल 31 कंपनियां शामिल हैं

सेंसेक्स के फायदे

दोस्तों सेंसेक्स का सबसे बड़े फायदे की बात की जाए तो उसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप बाजार में होने वाले परिवर्तन को आसानी से समझ सकते हैं और इसके द्वारा आप अपने पैसे को शेयर बाजार में इन्वेस्ट कर सकते हैं

दोस्तों जब भी सेंसेक्स के भाव ऊपर जाते हैं तो इसमें कई सारे निवेशक अपना पैसा लगा देते हैं जिसके कारण बड़ी-बड़ी कंपनियों में ग्रोथ बढ़ जाती है और बाह काफी तेजी से विकास होने लगती है जिसके कारण बाजार में कई सारी नौकरियां उत्पन्न हो जाती हैं और बेरोजगारों को नौकरियां मिलने में थोड़ी आसानी हो जाती है

दोस्तों जब बाजार अच्छा होता है यानी सेंसेक्स ऊपर जाता है तो विदेशी निवेशक भी भारत में आने लगते हैं और वह इन में पैसा काफी तेजी से लगाने लगते हैं जिससे भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलती है वह शेयर मार्केट में एक पॉजिटिव खबर आती है 1990 में शेयर मार्केट में सेंसेक्स 1000 हुआ करता था और आज के समय में सेंसेक्स 20 हजार को पार कर चुका है और हम उम्मीद करते हैं कि सेंसेक्स ऐसे ही दिन वा दिन अच्छा प्रदर्शन करता रहेगा

sensex kya hota hai आर्टिकल में

दोस्तों हमने हमारे इस आर्टिकल sensex kya hota hai में आपको बताया है कि sensex kya hota hai और इससे शेयर मार्केट किस प्रकार प्रभावित होता है और सेंसेक्स के द्वारा शेयर मार्केट का पता कैसे लगा सकते हैं अगर आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल कैसा लगा धन्यवाद

Leave a Comment

error: Content is protected !!